यदि आप भी मानते हैं कि शादी के पहले शारीरिक संबंध ग़लत है, तो यह लेख ज़रूर पढ़ें

“इन नई उम्र की लड़कियों को कोई ऊंच-नीच समझ नहीं आती, ज़रा पर निकले नहीं के उड़ने लगती हैं

दादी अपनी बूढ़ी आवाज़ में कुछ बुद-बुदा रही थीं लेकिन उस वक़्त यह बातें समझ के परे थीं। अब शायद समझ में आने लगा है कि “ऊंच-नीच” आखिर किस बला को कहते हैं।

इसमें कोई दो राय नहीं है कि हम जिस जनरेशन में जी रहे हैं, वहां “लिव-ईन” रिलेशनशिप कोई बड़ी बात नहीं है। मैं यह भी मानती हूँ कि ज़माना बदल रहा है और इस बदलते ज़माने के साथ कदम ताल मिलाना बहुत ज़रूरी है। लेकिन इस विषय के बारे में मनन करने पर मुझे कुछ बातें वाक़ई सत्य लगी। कुछ बिंदुओं को जोड़ते हुए मैं यह समझने की कोशिश की है कि आखिर क्यों हमारे बुज़ुर्ग शादी के पहले शारीरिक सम्बन्ध को ग़लत मानते थे।

हो सकता है आप मेरी इस बात से सहमत न हों, लेकिन फिर भी पढ़ तो सकते ही हैं।

सही इंसान का साथ मिले यह ज़रूरी तो नहीं?

सही इंसान का साथ मिले यह ज़रूरी तो नहीं?

“To have sex is not difficult but finding a partner is”  अंग्रेजी में यह एक प्रसिद्ध कहावत है। विज्ञान की मानी जाए तो सम्भोग महज़ 5 से 7 मिनिट की गतिविधी होती है। अब आप एक बार सोच के देखिये, आपने तो अपना सब कुछ किसी को दे दिया, लेकिन वह शख़्स के लिए यह महज़ एक दिल को बहलाने की चीज़ हुई, तो क्या आप इस इमोशनल ट्रॉमा से निकल पाएंगे?

पार्टनर बदलने से होती है बीमारियां?

पार्टनर बदलने से होती है बीमारियां?

इस बात से हम भली-भाँति परिचित हैं कि एड्स का मुख्य कारण अलग-अलग पार्टनर के साथ सम्भोग करना होता है। शादी इस बात की ग्यारंटी तो नहीं देती के पति-पत्नी एक दूसरे के प्रति ईमानदार होंगे, लेकिन फिर भी शादी एक हद तक आपको किसी और से शारीरिक संबंध बनाने से रोकती ज़रूर है।

क्या आप अकेले यह ज़िम्मेदारी संभाल पाएंगे?

क्या आप अकेले यह ज़िम्मेदारी संभाल पाएंगे?

ऐसा अक्सर देखा गया है कि शादी के पहले लड़कियां प्रेगनेंसी की शिकार हो जाती हैं। लड़के यह ज़िमेदारी अपनाना नहीं चाहते और अलग हो जाते हैं। शादी के पहले शारीरिक संबंध बना लेने से यदि कोई लड़की प्रेगनेंसी का शिकार हो जाती है, तो क्या वह ज़िम्मेदारी अकेली संभाल पाएगी?

शादी से पहले सेक्स करना क्यों ग़लत है?

शादी से पहले सेक्स करना क्यों ग़लत है?

शादी के सात फेरों में एक वचन यह भी होता है कि हम अपने साथी को तन-मन धन से अपनाते हैं। मन और धन तो ठीक है लेकिन क्या आपको नहीं लगता कि तन से भी ईमानदारी होनी चाहिए? आप किसी इंसान से बेपनाह मोहब्बत करते हैं और तमाम ज़िन्दगी साथ बिताना कहते हैं। लेकिन आपके शरीर पर उस इंसान से पहले किसी और का हक़ रह चूका है, क्या यह सही होगा?

Blame Game करना होगा बंद

Blame Game करना होगा बंद

अब आप सोच रहे होंगे के बाज़ार में मेडिकल शॉप्स पर खड़े आधा दर्जन लोग बेवकूफ तो है नहीं? तो आपको बता दूँ कि हर बार कॉन्डोम का इस्तेमाल, सेफ्टी की गारंटी नहीं देता। दूसरी बात यह कि आपको नहीं लगता अब हमें “Blame Game” खेलना बंद करना होगा? कम से कम शादी इस Blame Game से तो बचा ही लेती है।

Flashback में चलते हैं

Flashback में चलते हैं 

यदि आपको बचपन याद होगा तो आपको यह भी याद होगा कि किस तरह आपने पहली बार साइकिल चलाई थी, पहली लड़की जो आपको पसंद आई थी, पहली बार जब आपने सिगरेट के कश लगाए थे। और जब आप इन सारी चीज़ों के आदि हो गए थे तो क्या वो मज़ा बाकी रहा था?

क्या आप किसी non-virgin व्यक्ति से शादी कर लेंगे?

क्या आप किसी non-virgin व्यक्ति से शादी कर लेंगे?

चाहे हम जितना भी पश्चिमी संस्कृति से लगाव महसूस करते हों लेकिन शादी से पहले यह ख्याल आता ही है की पार्टनर virgin है या नहीं? और अगर पता चल जाए कि लड़की या लड़का पहले सेक्स कर चूका है तो खुले दिल से कभी नहीं अपना पाते। अगर आप भी इस भुलावे में जी रहे हैं कि सोच बदल चुकी है, तो किसी दिन गार्डन में वॉक करती आंटियों से इस विषय पर चर्चा ज़रूर कीजियेगा।

आपके विचार हमारे लिए बहुत ज़रूरी हैं, कृपया कमेंट करना न भूलें।

SHARE